कोरोना संकट बचाव प्रवाधानो विषय पर विहिप बजरंगदल से नीरज अग्निहोत्री ने प्रेस विज्ञप्ति किया जारी

 

ब्यूरो रिपोर्ट/केशकाल

कोरोना संकट बचाव प्रवाधानो विषय पर विहिप बजरंगदल से नीरज अग्निहोत्री ने प्रेस विज्ञप्ति जारी करते हुवे छग शासन प्रशासन के ऊपर धर्म के आधार पर भेदभाव का आरोप लगाया,उन्होने कहा कि कोरोना संक्रमण बचाव के नाम पर केवल हिन्दूओ के धार्मिक पर्वो धार्मिक स्थलो पर जरूरत से ज्यादा कडाई लागू किया जा रहा है जीसे लागू कराते समय ना ही हिन्दूओ की भावनाओ का ध्यान रखा जा रहा है और ना ही हिन्दूओ को विश्वास मे लिया जा रहा है जबकि दुसरे धर्मावम्बीयो को विशेष छुट दी जा रही है उन्होने इसके लिए श्री गणेशोत्सव और बकरीद का उदाहरण सामने रखते हुवे कहा कि शासन और प्रशासन के द्वारा हिन्दूओ को श्रीगणेशोत्सव कैसा मनाना है इसके लिए 30बीन्दुओ की लम्बी चौडी शर्ते और,नीयम जारी कर दी गयी जीसमे सबसे बडी आपत्तिजनक बीन्दू पर उन्होने ध्यानाकर्षण कराते हुवे कहा कि यदी किसी सार्वजनिक गणेशपंडाल की वजह से कोरीना संक्रमण फैलता है तो उसकी जिम्मेदारी गणेश पंडाल के सदस्यो पर होगी,और बीमार व्यक्तियो के ईलाज का खर्चा गणेश समीति ही करेगी यह बीन्दू हिन्दूओ मे भय का वातावरण फैला रहा है यह काफी भयावह है जबकि दुसरी ओर अग्निहोत्री ने मुख्य कार्यपालन अधिकारी नपंचायत केशकाल श्री नामेश कावडे से बकरीद के लिए किसी विशेष गाईडलाईन की जानकारी ली तो उन्होने बताया कि बकरीद पर कोई विशेष गाईडलाईन नही आया है हां प्रावधान मे सभी धर्मो के धार्मिक स्थलो के लिए प्रावधान जरूर निश्चित किया गया है ,छग शासन प्रशासन यदी कोरोना संक्रमण बचाव प्रावधानो मे हिन्दूओ के विरूध्द दुर्भावना नही रखती तो जब छग शासन प्रशासन ने शराब व्यवसाय प्रारंभ करने का निर्णय लिया तब इस प्रावधान को शराब व्यवसाय के साथ क्यो नही जोडा गया कि यदी शराब दुकान की वजह से संक्रमण फैलेगा तो शराब ठेकेदार व उस क्षेत्र का प्रशासनिक अमला जिम्मेदार होगा,नीरज अग्निहोत्री ने शासन प्रशासन पर हिन्दूओ के साथ दोहरा रवैए का आरोप लगाते हुवे कहा कि कोरोना संक्रमण बचाव प्रवधान की आड मे हिन्दूओ के विरूध्द दमनकारी नीति पर काम किया जा रहा है जो गलत है सभी धर्मो के साथ समान व्यवहार किया जाना चाहिए,इस धार्मिक भेदभाव से हिन्दूओ मे निराशा है शासन प्रशासन के ताजा व्यवहारो से हिन्दूओ मे शंका और निराशा का माहौल फैल रहा है शासन प्रशासन को कोरोना संक्रमण बचाव के लिए कडे प्रावधान नितान्त आवश्यक है पर इसके लिए अन्य धर्मो के साथ साथ हिन्दूओ की भावनाओ का भी ध्यान रखा जाना चाहिए, और प्रावधानो के लिए हिन्दूओ को इसके विश्वास मे लिया जाना चाहिए।।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *